जनपद में चल रही पुश्टाहार योजना में अनियमितताओं के चलते घुन लग चुका है

0
242

जनपद में चल रही पुश्टाहार योजना में अनियमितताओं के चलते घुन लग चुका है। विभागीय अफसरों की लापरवाही के कारण गरीब माताओं और बच्चों को उनके हिस्सों का निवाला नही मिल रहा है। पुश्टाहार उपलब्ध होेने के बावजूद दर्जनों आंगनवाड़ी केन्द्रों में वितरण नही किया जाता है। िशकायत मिलने पर विभागई अधिकारी चैकिंग के नाम पर वसूली कर औपचारिकता पूरी कर लेतेे है। इसके अलावा जिले में आंगनवाड़ी केन्द्रों की जांच के लिए कोई टीम का गठन भी नहीं है। गरीबों के निवाले पर भी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर तैनात कर्मचारियों की गिद्ध दृिश्ट लगी हुई है। जनपद में हजारों की संख्या में आंगनवाड़ी केन्द्र संालित किए जा रहे है। जहां पर गर्भवती माताओं और नौनिहालों की सेहत के लिए चलाई जा रही पुश्टाहार योजना को सुनियोजित तरीके से पलीता लगाया जा रहा है। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 25-25 किलो के पैक में पहुंचने वाली पंजीरी को बिना नियम के वितरण की बात कही जा रही है। इस तरह की िशकायत लगातार जला कार्यक्रम अधिकारी के कार्यालय पहुंच रही है, लेकिन सभी इन्हें दबाने में जुटे है। कई गांवों के प्रधानों ने आरोप लगाया कि उनके क्षेत्र में बने आंगनवाड़ी केन्द्रों में गड़गड़ी बड़े पैमाने है। यहां बच्चे और गर्भवती महिलाएं पंजीरी लेने कम ही संख्या में जाती है, लेकिन कागजों में संख्या पूरी दिखाइ्र जा रही है। आरोप है कि िशकायत के बाद आंगनवाड़ी केन्द्रों पर जो चैकिंग की जाती है वह मात्र औपचारिकता रहती है। केन्द्र पर ताला जड़ दिया जाता है और पैसा पहुंचने पर उन्हें उक्त ताले की चाबी वापिस कर दी जाती है।

इस सम्बंध में जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रदीप कुमार ने बताया कि आंगनवाड़ी केन्द्रों पर व्याप्त अनियमितताओं की जब िशकायतें आती है तो सेंटर पर जाकर चैकिंग की जाती है और कमी पाये जाने पर कार्यकत्री से कारण पूछा जाता है। अभी विगत दिनों मेें सेंटरों पर मिली अनियमितताओं के चलते दर्जन भर से अधिक आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की सेवा समाप्त की जा चुकी है। यदि आंगनवाड़ी कार्यकात्री अपने कार्य संचालन में बदलाव नही लाती है तो यह अभियान जारी रहेगा और उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com