छोटी-छोटी बातों पर मुकदमेबाजी में न उलझे

0
117

उरई-बम्हन मिनौरा में आयोजित विधिक साक्षरता शिविर में अध्यक्षता कर रहे अपर जिला जज बीके त्यागी ने कहा कि।आपसी सामंजस्य और विनम्रता के साथ बात करके अनावश्यक रंजिश से बचें। फर्जी एवं बेवजह छोटी-छोटी बातों पर मुकदमे बाजी से दूर रहे जिससे आपके समय और धन की क्षति न हो। यह बात

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में आयोजित किये गये उक्त शिविर में बीके त्यागी ने ग्रामीणों को कानून से संबंधित जानकारियां दीं जिसमें उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिले में एक परामर्श एवं सुलह समझौता केंद्र है जिसमें पारिवारिक मामलों सहित सभी प्रकार के मामलों का निस्तारण करने का प्रयास किया जाता है। उन्होंने यह भी बताया कि गरीब बंदी अभियुक्तों को नि:शुल्क वकील की सुविधा दी जाती है। फौजदारी के समन वाले मामलों को सुलह द्वारा शीघ्र निस्तारण के लिये लोक अदालत उचित मंच है।

इस अवसर पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट इफ्तेखार अहमद ने ग्रामीणों को बताया कि जिला कारागार में बंदियों को विधिक सहायता देने के लिये अधिवक्ता प्रकोष्ठ का गठन किया गया है। इस पैनल में एक महिला अधिवक्ता भी है जो महिला बंदियों को विधिक सहायता देती है। शिविर में प्राधिकरण के सचिव सिविल जज एसएन सिंह, जिला शासकीय अधिवक्ता कमर अहमद, वरिष्ठ अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद रावत, जिला उपभोक्ता फोरम सदस्य रामबाबू निषाद, नायब तहसीलदार परशुराम सचान ने भी ग्रामीणों को संबोधित करते हुये घरेलू हिंसा से महिलाओं का बचाव अधिनियम, सूचना का अधिकार, किसानों को खाद, बीज, कीटनाशक, कृषि यंत्र और ट्रैक्टर इत्यादि खरीदने में सावधानी और समझदारी बरतने, दाखिल खारिज प्रक्रिया और किसान दुर्घटना बीमा आदि के बारे में जानकारी दी।

शिविर का संचालन प्राधिकरण के अश्विनी कुमार ने किया। इस अवसर पर ग्राम प्रधान आदित्य दीक्षित, पंचायत सदस्य अखिलेश कुमार, समाजसेवी कृपाशंकर द्विवेदी, उदय निरंजन कानूनगो और ग्रामीण मौजूद रहे।

NO COMMENTS