चिंता एक्सपायरी दवाओं पर

0
225

ग्वालियर. एक्सपायरी डेट की दवाएं न केवल मेडिकल स्टोरों पर बल्कि सरकारी अस्पताल में भी मिल रही हैं। शनिवार को सीएमएचओ ने एक दवा दुकान की जांच की तो यहां एक्सपायरी डेट की दवाएं मिल गईं। पिछले स्वास्थ्य केंद्रों के निरीक्षण के समय भी इसी तरह की दवाएं मिली थीं। सीएमएचओ ने अब जिले भर के अस्पतालों में पदस्थ अमले को सतर्क कर दवा स्टाक की जांच के निर्देश दिए हैं।

मेडिकल स्टोरों पर एक्सपायरी डेट की दवा बेचे जाने की शिकायतों पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. अर्चना शिंगवेकर के नेतृत्व में शनिवार को किलागेट स्थित मेडिकल स्टोर की जांच की गई। यहां अलग-अलग तरह की एक्सपायरी डेट की दवाएं मिली हैं। डा. शिंगवेकर ने बताया कि मेडिकल स्टोर पर फार्मासिस्ट भी मौजूद नहीं था। जांच के बाद स्टोर संचालक को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है। उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि इसी तरह कुछ समय पहले कम्पू स्थित कस्तूरबा मार्केट में एक मेडिकल की दुकान पर भी निरीक्षण के दौरान एक्सपायरी डेट की दवाएं मिलने पर लाइसेंस निलंबित कर दिया गया |डबरा क्षेत्र के ग्राम बिजकपुर उप स्वास्थ्य केंद्र का पिछले सप्ताह औचक निरीक्षण किया गया था। यहां न केवल एक्सपायरी डेट की दवाएं मिली थीं बल्कि अन्य कई खामियां भी पाई गई थीं।

सीएमएचओ डा. अर्चना शिंगवेकर ने एक्सपायरी डेट की दवाओं को लेकर सभी चिकित्सा अधिकारियों को 22 अप्रैल को निर्देश जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा है कि दवाओं का समय से पहले उपयोग कर लिया जाए। यदि यह संभव न हो, तो ऐसी दवाएं समय से पहले पास के किसी भी स्वास्थ्य केंद्र पर जहां मरीज अधिक आते हों, भेज दी जाएं। डा. शिंगवेकर ने कहा है कि यदि किसी अस्पताल पर एक्सपायरी दवाएं मिलेंगी तो दवा की कीमत संबंधित चिकित्सा अधिकारी से वसूल की जाएगी।