चांद ऩजर आया, ईद आज

0
257

झांसी- ईद का चांद नजर आते ही मुस्लिमबंधु खुशी से झूम उठे। एक-दूसरे को चांद दिखने की मुबारक बाद दी गयी। इसके साथ ही बाजारों में खरीददारी करने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी। सेंवई और सूत फेनी की भीनी खुशबू से बाजार महक उठे। हिना अपना रंग बिखेरने लगी और इत्र व परफ्यूम की दुकानों पर खरीददारों की लाइन लगी रही।

ईदुल फित्र मुस्लिम समुदाय का सबसे बड़ा खुशियों का पर्व है। इस ईद को लेकर बाजारों की रंगत बदल गई। चांद रात में चूड़ियां पहने के चलन को लेकर अन्दर ओरछा गेट में बड़ी संख्या में चूड़ी की दुकानें सज गई। जहां महिलाओं की चहल-कदमी खासी रही। बाजार देर रात तक चलता रहा। इसके अलावा कपड़े, जूता-चप्पल, श्रृंगार की दुकानों पर भी खरीददारों की भीड़ देखी गई। कपड़ों की दुकानों में महिलाओं की पहली पसन्द सितारों वाला सूट, चोली दामन, कॉटन जयपुरी परिधान, फ्राक सूट आदि बने हुए है। पुरुषों का रुझान कुर्ता-पाजामा की तरफ ज्यादा दिखा तो नौजवानों की पहली पसन्द जीन्स और टी शर्ट बने रहे। कढ़ाई वाली जीन्स व शॉट शर्ट का ज्यादा क्रेज दिखा। फूलबाग में रहने वाली आफरीन बता रही थीं कि ईद पर वह फ्राक वाला शूट खरीदने के लिए बा़जार आई हैं। प्रेमनगर की शहना़ज ने बताया कि फ्राक वाला सूट उनकी पहली पसन्द है, मन पसन्द अगर यह मिल गया, तो ठीक है नहीं तो कोटन जयपुरी का सूट खरीदेगी। अन्दर ओरछा गेट निवासी जमीला ने बताया कि रेशमी कढ़ाई की फुल लेंथ सूट व सेमी पटियाला उनकी पहली पसंद है। मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रो में सूत फेनी और सिवई की बड़ी संख्या में दुकानें लगी हुई है। जहां सादा सिवई 30-35 रुपए प्रति किलो है, तो मोटी व किमामी सिवई 40-45 रुपए, पेंच वाली सिवाई 45-50 रुपए तथा बनारसी डिब्बे वाली सिवई 70-75 रुपए किलो तक बिक रही है। सूत फेनी डबल फ्राई वाली 60 रुपए तथा सिंगल फ्राई वाली 55 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रही है।