चक्रवात व ओलावृष्टि के कारण भंयकर जन-धन की हानि हुई है

0
245

sahiभारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने बुंदेलखंड में आए भयंकर चक्रवात एवं ओलावृष्टि प्रभावित जिलों का दौरा करने बाद आज प्रदेश भाजपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि गत 11 अपै्रल को बुंदेलखंड के दो जनपदों उरई और हमीरपुर में आए भयंकर चक्रवात व ओलावृष्टि के कारण भंयकर जन-धन की हानि हुई है।
श्री शाही ने बताया कि सरकारी आंकड़ों में दर्शाया गया है कि उरई के डकोर ब्लाक के 45 गांव व 2947 आवासों को नुकसान पहुंचा है तथा कोंच ब्लाक में 50 गांव के 5391 आवास क्षतिग्रस्त हुए हैं लेकिन वास्तविकता एकदम भिन्न है। हमीरपुर के मौदहा, राठ व सरीला में भी भयानक नुकसान हुआ है। लगभग 25 हजार एकड़ फसल बर्बाद हो गई। उन्होंने कहा कि हम लोग उरई में 11 गांवों में किसानों से जाकर मिले जहां उनके मकान तथा खेतों में जाकर नुकसानों को देखे जिससे पता चला कि सरकारी आंकड़ों ने जो नुकसान दिखाया है उससे लगभग पांच गुना नुकसान हुआ है। हमीरपुर के मौदहा, राठ व सरीला ब्लाक में सैकड़ों गांव व हजारो किसानों का भारी नुकसान हुआ है।
पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री शाही ने कहा कि बुंदेलखंड में आए तूफान के बाद हमने प्रदेश के राजस्व मंत्री अम्बिका चैधरी से बात करके आग्रह किया था कि बंुदेलखंड विगत चार-पांच वर्षो से सूखाग्रस्त रहा है। इस कारण वहां के किसानों को अच्छी सहायता दी जाए। जब श्री चैधरी वहां के दौरे से आए तो उन्होंने किसानों से वादा किया था कि सरकार खजाना खोलकर किसानों को सहायता देगी लेकिन सहायता के नाम पर मृतकों के परिजनों को पचास हजार तथा कुछ घायलों को 3100 रू0 की मामूली सहायता दी गई जबकि खेती में हुए नुकसान का कोई मुआवजा नहीं दिया गया।
श्री शाही ने कहा कि भाजपा की ओर से हमने मृतकों को दस-दस हजार की सहायता राशि दी है तथा अत्यन्त प्रभावित परिवारों को भी सहायता दी गई। प्रभावित इलाकों में लगभग 25 हजार बिजली के खम्भे धराशायी हो गए जिससे विद्युत आपूर्ति और पेयजल की समस्या खड़ी हो गई है। श्री शाही ने कहा कि भाजपा की मांग है कि प्रदेश सरकार वहां की परिस्थितियों पर संवेदनापूर्वक विचार कर मृतकों के परिजनों को पांच लाख तथा गंभीर रूप से घायलों को एक लाख तथा कम घायलों को पचास हजार की सहायता दें तथा तात्कालिक प्रभाव से वहां के किसानों का कर्ज माफ किया जाए व किसानों को 25 हजार प्रति एकड़ के हिसाब से फसल की क्षतिपूर्ति दी जाए।
श्री शाही ने कहा कि इस समय किसानों के सामने गेहूूं खरीद का सबसे बड़ा संकट है। सरकार द्वारा निर्धारित प्रति क्विंटल 1285 रू0 नहीं मिल पा रहा है। हम लोग भरूआ सुमेरूपुर में क्रय केन्द्र पर गए थे जहां भारी बड़ी गड़बड़ी हो रही थी वहां एक मई को हमीरपुर की विधायक साध्वी निरंजन ज्योति ने धरना दिया था। हर जगह एक हजार रू0 में गेहॅू खरीदा जा रहा है बाकी दो सौ पिचासी रू0 दलालों में जा रहा है। श्री शाही ने सरकार से अपेक्षा की कि तत्काल समूचे प्रदेश में किसानों से हो रही लूट को रोकने की कार्यवाही करें तथा किसानों को निर्धारित धनराशि का भुगतान सुनिश्चित करें।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

NO COMMENTS