घरों के नजदीक ही इंटर तक की शिक्षा

0
168

चित्रकूट- गांव के छात्र छात्राओं को उनके घरों के नजदीक ही इंटर तक की शिक्षा मिल सकेगी। इस काम को चरणवद्ध तरीके से पूरा कराने के लिये जिलाधिकारी हृदेश कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार ने शनिवार को शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक की।

जिला विद्यालय निरीक्षक सीएल चौरसिया ने बैठक मे बताया राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा के अंतर्गत 5 किलोमीटर की दूरी पर जूनियर हाई स्कूल व 7 किलोमीटर की दूरी पर इंटर कालेज खोलने की मंशा शासन की है। प्रत्येक जूनियर हाई स्कूलों को उच्चीकृत करने के लिये 50 लाख की धनराशि आवंटित करने की योजना बनाई गई है। इसके लिये 103 विद्यालयों को 34633.699 लाख रुपये की धनराशि प्रस्तावित की गई है। इसके अलावा प्रधानाचार्य कक्ष के लिये 12.07 लाख, कक्षाओं के लिये 8.65 लाख, प्रयोगशाला उपकरण के लिये 10 लाख, प्रयोगशाला के लिये 29.61 लाख, कार्यालय कक्ष के लिये 11.60 लाख, कम्प्यूटर कक्ष के लिये 8.65 लाख, कला संस्कृति कक्ष के लिये 8.65 लाख, पुस्तकालय के लिये 12.72 लाख, शौचालय के लिये 9.12 लाख, पेयजल के लिये 4.75 लाख व छात्राओं के छात्रावास के लिये 100 लाख रुपये का प्रस्ताव है। उन्होंने बताया कि दो-दो छात्रावास प्रत्येक विकास खंड पर जिसमें एक सामान्य व एक अनुसूचित जाति के लिये होगा। साथ ही जनपद स्तर पर अल्पसंख्यक छात्रावास का निर्माण कराया जायेगा। बताया कि यह धनराशि तीन वर्षो के लिये प्रस्तावित की गई है। तीन वर्षो बाद इन्हीं विद्यालयों के 7 किलोमीटर की दूरी पर इंटर कालेज खोले जायेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि सम्पूर्ण योजना को व्यवस्थित ढ़ंग से चलाने की पूरी व्यवस्था अभी से कर ली जाये। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी पीसी श्रीवास्तव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रमेश कुमार तिवारी के साथ ही संबंधित विद्यालयों के प्रधानाचार्य मौजूद रहे।

NO COMMENTS