गुलाबी गैंग पर रिसर्च कर रही फ्रांस की छात्राएं

0
119

अतर्रा (बांदा)। गुलाबी गैंग की महिला सशक्तिकरण से पेरिस यूनिवर्सिटी (फ्रांस) की दो छात्राएं इतना प्रभावित हुई कि रिसर्च के लिए अपना विषय ही बना डाला। उक्त दोनों छात्राओं ने भारत देश के जनपद बांदा का अंग बदौसा आकर गुलाबी गैंग कमांडर संपत पात से तमाम सवालों के माध्यम से परखते हुए उनकी जीवन चर्या नजदीक सेेखी।

गुलाबी गैंग के महिला सशक्तिकरण से हमारे देश के लोग प्रभावित तो हैं ही, विदेशी भी कम प्रभावित नहीं। विदेशी समाजसेवियों सहित वहां के छात्र-छात्राओं ने गुलाबी गैंग को अपने रिसर्च का विषय ही बना डाला है। ऐसी ही फ्रांस के पेरिस यूनिवर्सिटी की दो छात्राओं नताशा और क्लेनिशा ने भी गुलाबी गैंग की महिला सशक्तिकरण को अपने रिसर्च का विषय बनाया है। शनिवार को अपने देश से चल भारत के जनपद बांदा के कस्बा बदौसा पहुंच गुलाबी गैंग कमांडर संपतपाल से मिल उनकी दैनिक दिनचर्या को नजदीक से तो देखा ही महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए जीवन जीने वाली संपत पाल के कार्य, व्यवहार को भी देखा, तमाम सवालातों के माध्यम से संपत पाल के विचारों को लिपिबद्ध किया।

संपत पाल से मिलने के उपरांत जागरण से विशेष भेंटवार्ता में पेरिस की शोध छात्राएं नताशा, क्लेनिशा ने बताया कि गुलाबी गैंग के महिला सशक्तिकरण के बारे में हमें कोई संपत पाल नाम से प्रकाशित किताब का अध्ययन के बाद पता चली। हम काफी उनके अच्छे कार्यो से प्रभावित हुए। इसी प्रभाव के चलते हमने अपने रिसर्च का केंद्र बिंदु गुलाबी गैंग को बनाया। दोनों ने बेबाक टिप्पणी के दौरान बताया कि सब जगह महिलाओं की एक सी स्थिति नहीं है, लेकिन फिर भी महिलाओं के सशक्तिकरण की आवश्यकता पूरे विश्व में है। कहा कि ऐसा नहीं है कि फ्रांस में महिला उत्पीड़न नहीं है, लेकिन भारत में महिला सशक्तिकरण की गति अच्छी दिख रही कई मुख्यमंत्री रही वर्तमान में तो भारत में महिला प्रेसीडेंट हैं। जबकि फ्रांस में अभी तक महिला प्रेसीडेंट कोई नहीं बना। महिलाओं के उन्नति की आवश्यकता भी देश के विकास के लिए परमावश्यक है। उन्होंने कहा कि गुलाबी गैंग के कार्यो पर रिसर्च कर फ्रांस के साथ-साथ पूरे विश्व में फैलाना चाहती है। नताशा, क्लेनिशा ने भारतीय संस्कृति व व्यवहार की जमकर तारीफ करते हुए भारतीय महिलाओं के पहनावा, साज, श्रृंगार की भी तारीफ की। इतना ही नहीं पैरों में महावर और हाथों में मेहंदी माथे पर बिंदी यहां की महिला से लगवाकर सुखद अनुभव करते हुए काफी अभिभूत दिखी। उन्होंने कहा कि अभी वापस जाकर दुबारा भारत अवश्य आएगी।

NO COMMENTS