गुलाबी गैंग के सदस्यों ने लगाया वाइस कमांडर पर आरोप

0
258

महोबा- गुलाबी गैंग की अंतर कलह बढ़ती जा रही है। कई महिलाओं ने जिलाधिकारी को शपथ पत्र दे वाइस कमांडर पर धोखा दे पैसा वसूलने का आरोप लगा कार्यवाही की मांग की है। वाइस कमांडर ने इसे निष्क्रिय पदाधिकारियों की बर्खास्तगी की खुन्नस बताया है।

गैंग कमांडर संपत पाल ने महोबा की ज्ञानवती को हमीरपुर जिले का अध्यक्ष मनोनीत किया था। गत सप्ताह निष्क्रियता व अन्य आरोपों के चलते इन्हे पद व गैंग की सदस्यता से बर्खास्त कर दिया गया। तभी से गैंग में भारी अंतर कलह शुरू हो गयी है। तीन दिन पूर्व कई महिलाओं ने पदाधिकारियों द्वारा शोषण करने का आरोप लगा सीओ व एसपी को दरखास्त दे कार्यवाही की मांग की थी। बुधवार को बजरिया की रामकली ने वाइस कमांडर पर राशन कार्ड बनवाने के लिए 500 रुपये वसूलने का आरोप लगा जिलाधिकारी को शपथ पत्र दिया है। कहा है कि न राशन कार्ड बना न ही पैसे वापस दिये जा रहे है। मांगने पर सुमन सिंह जानमाल की धमकी दे रही है। इसी तरह का शपथ पत्र नजमा व फरजाना ने भी दिया है। जिलाधिकारी ने इन्हे तथ्यों की जांच करा कार्यवाही का दिलासा दिया है। उधर वाइस कमांडर सुमन सिंह कहती है कि तमाम महिलाओं के कारण गैंग बदनाम हो रही थी। पद पाने के बाद समाज सेवा की जगह निहित स्वार्थ व महिलाओं को बरगलाने के कारण कुछ लोगों को सदस्यता से बरखास्त किया गया है। यह सारी कार्यवाही इसी खुन्नस का परिणाम है। उन्होंने किसी से भी किसी काम के लिए पैसा लेने के आरोप को पूरी तरह बेबुनियाद बताया है।