गावों के लोगों को रोजगार वरीयता से दिया जाना चाहिए-जिलाधिकारी

0
240

ललितपुर- राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना की तीन दिवसीय कार्यशाला जिला पंचायतराज अधिकारी के सभागार में चल रही है। दूसरे दिन जिलाधिकारी ने विकास खण्ड बिरधा व बार के ग्राम प्रधानों सहित अन्य सम्बंधित कर्मियों को योजना के स्वरूप के अनुसार उपलब्धि हासिल करने के कडे़ दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गावों के लोगों को रोजगार वरीयता से दिया जाना चाहिए। निगरानी के दौरान कहीं लापरवाही पायी जाएगी तो सम्बंधित के खिलाफ कठोर कार्यवाही तय है।

सभी 6 विकास खण्डों में से 2-2 विकास खण्डों के ग्राम प्रधानों व पंचायत सचिव, रोजगार सेवक आदि की कार्यशाला आयोजित हो रही है। दूसरे दिन जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद ने कहा कि योजना का मकसद स्पष्ट है कि अधिक से अधिक लोगों को प्राथमिकता के साथ काम दिया जाना चाहिए। बड़ी योजनाएं तैयार करने के बजाय छोटी-छोटी इकाईयों में काम बाट कर अधिक से अधिक लोगों को मजदूरी दी जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कार्य के दौरान मस्टर रोल के अलावा अन्य अभिलेख प्राथमिकता से उपलब्ध रहना चाहिए। योजनाओं का निर्धारण ग्राम पंचायत की बैठकों में किया जाए। इस दौरान अन्य अधिकारियों ने दोनों विकास खण्डों के अभिलेखों एवं कार्य योजना का पंचायतबार परीक्षण किया। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी बुद्धिराम, परियोजना निदेशक राजीव लोचन पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी शम्भू नाथ तिवारी, अवर अभियंता संदीप तिवारी प्रमुख रूप से मौजूद थे।