गर्मी बढ़ने के साथ संक्रामक बीमारियों का प्रकोप शुरू

0
254

ललितपुर- भीषण गर्मी शुरू होते ही संक्रामक बीमारियों का प्रकोप बढ़ने लगा है। उल्टी-दस्त और बुखार से तपते मरीजों की संख्या अस्पतालों में तेजी से बढ़ रही। संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग व नगरपालिका द्वारा संयुक्त रूप से अभियान छेड़ा गया, जिसके तहत बाजार में बिक रही सड़ी गली खाद्य सामग्री नष्ट की जा रही है।

लोगों का मानना है कि इस साल जैसी गर्मी उन्होंने पहले कभी महसूस नहीं की। प्रात: 7 बजे से गर्म हवाएं चलना शुरू हो जातीं है और 10 बजते-बजते प्रचण्ड धूप का कहर बरपना शुरू हो जाता। भीषण गर्मी के प्रकोप को देखते हुए लोगों ने अब अपनी दिनचर्या बदल ली है,  भीषण गर्मी के साथ-साथ जिले में बिजली, पानी की विकराल समस्या भी उत्पन्न हो गयी है। जिसकी वजह से लोग पानी भरने से लेकर घर के जरूरी काम सुबह-सुबह ही निपटा रहे। दिन में प्रचण्ड धूप व तीव्र लू चलने से बाहर का आलम गर्म भट्टी की तरह रहता है। भीषण गर्मी की वजह से जिले में संक्रामक बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ रहा है। सरकारी व निजी अस्पताल तो मरीजों से भरे पडे़ है। बताया गया है कि गर्मी के साथ-साथ प्रदूषित पेयजलापूर्ति की वजह से बीमारियों का प्रकोप बढ़ रहा है। यदि संक्रामक बीमारियों की रोकथाम की दिशा में शीघ्र ठोस कदम नहीं उठाये गए तो आगे स्थिति भयावह हो सकती है।

इधर संक्रामक बीमारियों के बढ़ते प्रकोप को मद्देनजर रखते हुए स्वास्थ्य विभाग व नगर पालिका ने संयुक्त रूप से अभियान छेड़ दिया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा.बाल किशन ने बताया कि आज नगर पालिका के खाद्य निरीक्षकों द्वारा दुकानों  पर बिक रही खाद्य सामग्री का निरीक्षण किया। इस दौरान भारी मात्रा में सडे़-गले तरबूजा, खरबूजा, अनार, आम, अंगूर, केला, समोसा, चाट मंगोड़ी, मावा बर्फी, जलेवी आदि बिकते पाये गए। चाट की दुकानों पर मक्खिया भिन-भिना रही थीं तो झूठे दौने बिखरे पडे़ हुए थे। दल ने सड़ी-गली खाद्य सामग्री व फलों को अपने कब्जे में लेकर उसे फिकवाया तथा दुकानदारों को कड़ी चेतावनी दी कि वह सड़ी-गली खाद्य सामग्री कतई न बेचें।  निर्देशों का उल्लंघन होने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।