खातों में पहुंची पेंशन, पासबुक 9 को मिलेगी

0
175

झांसी- असहाय लोगों को पेंशन का लाभ दिलाने में जिला प्रशासन ने देरी व दलाली पर अंकुश लगाते हुए समाज कल्याण विभाग के पात्र लाभार्थियों को सीधा लाभ पहुंचाए जाने के लिए  विकलांग, विधवा एवं वृद्धावस्था के पेंशन धारकों का पैसा सीधे खातों में पहुंचाया है। इसे निकालने के लिए अब उन्हे ज्यादा इंतजार करने की जरूरत नहीं, क्योंकि लाभार्थियों की पासबुकों का वितरण 9 जुलाई को नियुक्त प्रभारी अधिकारियों की देख-रेख में किया जाएगा।जिलाधिकारी राज शेखर ने बताया कि समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित वृद्धावस्था पेंशन, महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित पति की मृत्योपरांत निराश्रित महिलाओं को अनुदान एवं विकलांग कल्याण विभाग द्वारा संचालित विकलांग पेंशन योजनान्तर्गत लाभार्थियों को समयबद्ध रूप से योजना का लाभ दिलाना ही शासन की मंशा है। इन योजनाओं का लाभ बिना किसी कटौती के समय से सीधे लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए विभागीय योजनाओं और लाभार्थी के मध्य दूरी व दलाली को समाप्त करते हुए अप्रैल 09 से सितम्बर 09 तक (प्रथम छिमाही) का पैसा बैंक में जमा कराया गया है। इसमें जिले में वृद्धावस्था पेंशनधारक 57,805, विधवा पेंशनधारक 16,025 तथा विकलांग पेंशनधारक 9,257 हैं। इस प्रकार समस्त पेंशन योजनान्तर्गत कुल 83,087 व्यक्तियों को लाभान्वित कराये जाने के लिए 14 करोड़ 95 लाख 56 हजार 6 सौ रुपए की धनराशि बैंक खातों में पहुंचा दी गयी है। जिलाधिकारी ने बताया कि लाभार्थियों को एक साथ लाभान्वित कराने के लिए एकत्र कराई गयीं पासबुकों का वितरण 9 जुलाई को कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि वर्ष 2008-09 के चयनित डॉ. अम्बेडकर ग्राम सभा के ग्रामों में प्रविष्टियुक्त पासबुकों के वितरण कराने हेतु जनपद स्तरीय प्रभारी अधिकारियों की तैनाती की जा चुकी है। शेष ग्रामों में खण्ड विकास अधिकारी द्वारा नामित सेक्टर प्रभारियों की देख-रेख में सचिव, ग्राम पंचायत के स्तर से स्थानीय जन प्रतिनिधियों की उपस्थिति में पासबुकों का वितरण एक साथ पूरे जिले में उक्त तिथि में ही किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि 10 जुलाई तक पासबुकों का वितरण हर हाल में लाभार्थी को करा दिया जाए। उन्होंने कहा कि यदि पात्र पेंशन लाभार्थियों के नाम, खाता संख्या आदि में कोई गलती है तो वह तत्काल सम्बंधित अधिकारी से सम्पर्क कर उसे दूर कराकर योजना का लाभ लें।