कॉमनवेल्थ गेम :सरकार सीबीआई जांच को तैयार

0
126

राष्ट्रमंडल खेल से जुड़ी परियोजनाओं में भारी भ्रष्टाचार होने के आरोपों के बीच सरकार ने शुक्रवार को कहा कि वह कथित अनियमितताओं की सीबीआई से जांच कराने को तैयार है

शहरी विकास मंत्री एस जयपाल रेड्डी ने कहा, ‘वास्तविक खर्च 11,500 करोड़ रुपये का है। 50,000 करोड़ और एक लाख करोड़ रुपए के आंकड़े पूरी तरह से गलत हैं।’ राष्ट्रमंडल खेलों से जुड़ी परियोजनाओं में अनियमितताएं और भ्रष्टाचार होने के आरोपों के बारे में रेड्डी ने कहा, ‘हो सकता है कि सरकारी एजेंसियों ने कुछ अनियमितताएं की हों। हर एक आरोप की जांच की जाएगी। यहां तक कि हम सीबीआई से भी इसकी जांच करने को कह सकते हैं।’

रेड्डी ने इन आरोपों से भी इनकार किया कि राष्ट्रमंडल खेल की आयोजन समिति ने अनियमितताएं की हैं। उन्होंने कहा कि आयोजन समिति भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड [बीसीसीआई] की ही तरह स्वतंत्र संगठन है। अगर कुछ समस्याएं हैं या आयोजन समिति के बारे में भ्रष्टाचार के आरोप हैं तो सरकार जांच शुरू कर सकती है। अगर ऐसा है तो सभी जांच एजेंसियां, केंद्रीय सतर्कता ब्यूरो, नियंत्रक और महालेखा परीक्षक, प्रवर्तन निदेशालय कार्रवाई करेगा तथा विदेशी विनिमय प्रबंधन अधिनियम के तहत भी कदम उठाए जाएंगे।

विपक्ष के उन्हें लोकसभा में अपनी बात नहीं रखने देने के बारे में मंत्री ने कहा कि वह आरोपों का जवाब देना चाहते थे क्योंकि वह राष्ट्रमंडल खेल संबंधी मंत्री समूह के अध्यक्ष हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं पिछले 42 साल से विधायक या सांसद रहा हूं। मैंने ऐसा कभी नहीं देखा कि एक मंत्री जब बोलना चाह रहा हो तो उसे विपक्ष ने नहीं बोलने दिया हो।’ कुछ भाजपा सदस्यों द्वारा दिल्ली में इस खेल आयोजन पर सवाल उठाए जाने के संदर्भ में रेड्डी ने कहा कि खेलों की मेजबानी करने का फैसला 2003 में अटल बिहारी वाजपेई की तत्कालीन सरकार ने किया था। जब संप्रग सत्ता में आया तो यह कर्तव्य पूरा करना उसकी नैतिक तथा राजनीतिक जिम्मेदारी थी।

रेड्डी ने फिर जोर दिया कि खेल आयोजन के लिए सिर्फ 11,500 करोड़ रुपये की राशि ही खर्च की जा रही है। दिल्ली में बुनियादी विकास से जुड़ी परियोजनाओं और खेल परियोजनाओं के बीच असमंजस हो सकता है। उन्होंने कहा कि मेट्रो को नोएडा, गुड़गांव तथा हवाई अड्डे तक विस्तार देने के खर्च को राष्ट्रमंडल खेल की तैयारियों के खाते में नहीं डाला जा सकता। रेड्डी ने कहा, ‘विपक्षी सदस्यों को पूरी जानकारी नहीं है।’ बहरहाल, उन्होंने कहा, ‘अगस्त अंत तक सभी परियोजनाएं पूरी कर ली जाएंगी। राष्ट्रमंडल खेल का आयोजन अच्छी तरह से करने की हमारी काबिलियत को लेकर कोई संदेह नहीं है।’

रेड्डी ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी तैराकी परिसर दुनिया में श्रेष्ठ है। उन्होंने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम के वास्तुशिल्प को भी श्रेष्ठ करार दिया। राष्ट्रमंडल खेल संबंधी कुछ परियोजनाओं में विलंब को विपक्ष द्वारा राष्ट्रीय शर्म का विषय बताए जाने पर रेड्डी ने कहा, ‘जब इतनी सारी परियोजनाएं एकसाथ चल रही हों तो दो महीने का विलंब होना शर्म का विषय नहीं है।’


Vikas Sharma
bundelkhandlive.com
E-mail :editor@bundelkhandlive.com
Ph-09415060119