केंद्रीय विश्वविद्यालय कार्यकारिणी घोषित

0
223

सागर-डॉ. हरीसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय की पहली कार्यकारिणी घोषित कर दी गई। जिससे अब नीतिगत निर्णय लिए जा सकेंगे। कार्यपरिषद में कुलपति सहित कुल 11 सदस्य हैं। कार्यकारिणी में जनप्रतिनिधि के तौर पर सागर जिले से एक भी नाम नहीं है। टीकमगढ़ एवं महाराजपुर (छतरपुर) के विधायक का नाम शामिल है।

कार्यकारिणी में पूर्व केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री अर्जुन सिंह के समर्थित कांग्रेस नेताओं व समर्थकों को भी प्रतिनिधित्व दिया गया है। कार्यकारिणी में भाजपा की अपेक्षा कांग्रेस समर्थित सदस्य ज्यादा हैं। कुलपति के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान डॉ. हरीसिंह गौर विवि को केंद्रीय विवि का दर्जा दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले पूर्व कुलपति प्रो. डीपी सिंह को कार्यकारिणी का सदस्य बनाकर दोबारा इस विवि में कार्य करने का मौका दिया गया है।

प्रो. सिंह वर्तमान में बनारस हिंदू विवि के कुलपति हैं। विवि के ही भाषा विज्ञान विभाग के पूर्व अध्यक्ष एवं रिटायर्ड प्रोफेसर डॉ. बद्रीप्रसाद जैन को राष्ट्रपति द्वारा मनोनीत किया गया है। इसके अलावा कांग्रेस नेता प्रदीप गुप्ता, टीकमगढ़ से कांग्रेस विधायक यादवेंद्र सिंह, महाराजपुर(छतरपुर) से निर्दलीय विधायक मानवेंद्र सिंह भी शामिल हैं। डॉ. हरीसिंह गौर विवि के तीन प्रोफेसर क्रमश: प्रो केसी जैन, प्रो रामप्रसाद एवं प्रो. आरके त्रिवेदी नियुक्त किए गए हैं। प्रो. जैन अर्थशास्त्र विभाग के पूर्व अध्यक्ष हैं।

प्रो. रामप्रसाद गणित विभाग के अध्यक्ष एवं परीक्षा नियंत्रक हैं। प्रो. त्रिवेदी जनसंपर्क अधिकारी भी रहे हैं। वर्तमान में वह भू-गर्भ शास्त्र विभागाध्यक्ष एवं यांत्रिकीय संकाय के डीन हैं। कार्यपरिषद में केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के सचिव एवं मप्र उच्च शिक्षा विभाग के सचिव भी मनोनीत किए गए हैं।