कर्मचारी अधिक गंभीरता और तत्परता से काम करेःश्रीमती वालिम्बे

0
129

जनपद पंचायतों में पदस्थ पंचायत इंस्पेक्टर कार्यों की प्राथमिकता तय करें तथा और अधिक तेजी से शासकीय कार्यों का निपटारा करें। जनकल्याणकारी योजनाओं से अधिकाधिक ग्रामीणों को लाभान्वित करने के लिए आवश्यक है कि कर्मचारियों को और अधिक गंभीरता और तत्परता से कार्य करने की जरूरत है। यह निर्देश जिला पंचायत सीईओ श्रीमती भावना वालिम्बे ने जिले के पंचायत निरीक्षकों की बैठक में दिए। बैठक में अति.सीईओ श्री ए.बी. खरे, उपसंचालक सामाजिक न्याय श्री वीरेश सिंह बघेल, पंचायत प्रकोष्ठ प्रभारी श्री पी.एस. पाण्डेय सहित सभी पंचायत निरीक्षक उपस्थित थे।
श्रीमती वालिम्बे ने विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि नए वित्तीय वर्ष का लगभग 5 माह का समय पूरा हो रहा है इसलिए आवश्यक है कि इस वर्ष के निर्धारित लक्ष्यों को हम यथाशीघ्र अधिक से अधिक प्राप्त कर लें। उन्होंने कहा कि जिस एजेंडा पर जिला पंचायत में समीक्षा बैठक आयोजित की जाती है उसी एजेंडे पर पंचायत निरीक्षक भी पंचायत सचिवों के साथ बैठक सुनिश्चित करें। श्रीमती वालिम्बे ने कहा कि पंचायत निरीक्षकों को जिला पंचायत द्वारा निर्धारित एजेंडे की पूरी-पूरी जानकारी के साथ समीक्षा बैठक में सम्मिलित होना चाहिए। यदि आपको अपने दायित्व और लक्ष्यों की जानकारी ही नहीं है तो मैदानी कार्य में कैसे सफलता पाई जा सकती है? उन्होंने इंदिरा आवास योजना के गत वर्ष की द्वितीय किश्त एवं इस वर्ष के निर्धारित लक्ष्य की प्रथम किश्त को अगस्त माह में शत प्रतिशत जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जो भी कर्मचारी काम नहीं कर रहे हैं उनकी लिखित जानकारी जिला पंचायत के समक्ष प्रस्तुत की जाए।
जिला पंचायत सभाकक्ष में बुधवार को संपन्न समीक्षा बैठक में पंचायत निरीक्षकों को संबोधित करते हुए श्रीमती भावना वालिम्बे ने कहा कि जनकल्याणकारी सरकारी योजनाओं का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों को मिले। जनश्री बीमा योजना का लाभ राष्ट्रीय परिवार सहायता प्राप्त करने वाले हितग्राहियों को भी मिलना चाहिए। इसी तरह मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना का लाभ आम आदमी बीमा योजना के हितग्राहियों को भी मिलना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने जिले में सभी पात्र हितग्राहियों को विभिन्न तरह की पेंशनों का नियमित रूप से वितरण सुनिश्चित करने हेतु सतत मानीटरिंग करने के निर्देश दिए। चंद्रनगर, गहवरा, महाराजपुर तथा अचट्ट के डाकघरों द्वारा पेंशन वितरण में विलंब किए जाने पर उन्होंने उपसंचालक सामाजिक न्याय को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बकस्वाहा में नए पेंशनधारकों के खाता खोलने में डाकघरों द्वारा किए जा रहे अनावश्यक विलंब के लिए भी उन्होंने डाक विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखने के निर्देश दिए। बैठक में श्रम विभाग द्वारा जिले में कर्मकार मंडल के 54 हजार कार्ड वितरित होने की जानकारी देते हुए बताया गया कि श्रमिक के पास कर्मकार मंडल योजना अथवा मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना में से किसी एक का ही कार्ड होना पर्याप्त है इसलिए श्रमिक परिवार को किसी भी स्थिति में दोनों तरह के कार्ड जारी नहीं होना चाहिए। श्रम विभाग द्वारा यह भी बताया गया कि श्रमिक की मृत्यु होने की स्थिति में अंत्येष्टि आदि की सहायता तभी दिया जाना संभव है जबकि मृतक का मूल परिचय पत्र प्रकरण के साथ जमा कराया जाए जिससे कि मृतक के परिचय पत्र का कोई दुरूपयोग न कर सके।
बैठक में सितंबर माह में जनपद स्तर पर आयोजित किए जाने वाले अंत्योदय मेलों, स्पर्श अभियान, उत्कृष्ट ग्राम पंचायतों के चयन, ई-पंचायत कक्ष के निर्माण, जीर्ण-शीर्ण पंचायत भवनों की जानकारी आदि पर भी समीक्षा की गई। विभिन्न पंचायतों के विरूद्ध धारा 40 एवं धारा 92 के लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए श्रीमती वालिम्बे ने निर्देशित किया कि पंचायत इंस्पेक्टर संबंधित एसडीएम न्यायालय में इन मामलों की नियमित रूप से पैरवी करें जिससे कि इन मामलों का शीघ्रता से निपटारा हो सके।

Mohd. Imran Khan
09893223536

NO COMMENTS