ऐतिहासिक जल बिहार महोत्सव 2 सितंबर से शुरू होगा

0
277

महोबा- कुलपहाड़ कस्बे का ऐतिहासिक जल बिहार महोत्सव 2 सितंबर से धूमधाम से शुरू होगा। नगर पंचायत ने इसे भव्यता देने की व्यवस्था शुरू कर दी है।

नगर पंचायत के अध्यक्ष बाबूलाल अहिरवार के अनुसार विगत वर्षो की तुलना में इस वर्ष का महोत्सव ज्यादा आकर्षक होगा। बाहर के तमाम खेल तमाशा करने वाले लोगों को निशुल्क भूमि, बिजली व पानी की सुविधा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव पंचायत ने पास किया है। दो सितंबर को रंगारंग कार्यक्रमों के साथ इसकी शुरूआत की जायेगी। इसके पूर्व दिन में भव्य शोभायात्रा निकाली जायेगी। आयोजन में विख्यात आल्हा गायक वंशगोपाल व चंद्रभान का आल्हा गायन भी आकर्षण का विषय होगा। तीन सितंबर को जवाबी कीर्तन का रोमांचक मुकाबला होगा। इसमें कानपुर की कीर्तनकार गीता सिंह व खरेला के लालचरण दीक्षित अपने सहयोगियों सहित भाग लेंगे। चार सितंबर को लोकगीत का बेहतरीन आयोजन होना है। जिसमें मुढ़ारी, बेलाताल और कुलपहाड की लोक सांस्कृतिक पार्टियों एक दूसरे को शिकस्त देंगी। इसी दिन ढिमारियाई राग का बेहतरीन मुकाबला होगा। 5 सितंबर को जवाबी लोकगीत के कार्यक्रम में आकाशवाणी छतरपुर के मशहूर गायक मुन्ना लाल सैनी पार्वती राजपूत व रेखा परमार अपनी रसधारा बहायेंगी। 7 सितंबर को कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। इसी दिन इसका फाइनल मैच भी होगा। विजेता टीम को 2100 व उपविजेता को 1100 रुपये पुरस्कार दिया जायेगा। महोत्सव के अंतिम दिन 8 सितंबर को बिजावर की पार्टी द्वारा राई नृत्य का प्रदर्शन होगा। पंचायत के अधिशाषी अधिकारी राजकुमार उपाध्याय के मुताबिक महोत्सव के पारंपरिक व सांस्कृतिक स्वरूप को बरकरार रखने की हर कोशिश की जायेगी एवं बाहर से आने वाले दुकानदारों को विशेष सुविधायें दी जायेगी।