एस.पी. ने ली क्राईम बैठक

0
271

विवेचनाएं लंबित होने पर सम्बंधितों की मिली कड़ी चेतावनी

चित्रकूट-  कोतवाली सहित राजापुर व मानिकपुर थानों में लंबित विवेचनाएं समय से पूरी न होने पर सम्बंधित लोगों को कड़ी चेतावनी देते हुए क्राइम मीटिंग में एसपी ने दस्यु उन्मूलन गतिविधि को और अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए कई तरीके भी बताए। इसके अलावा उन्होंने दस्युओं और उनके पैरोकारों के खिलाफ कड़ा अपनाने के लिए भी कहा। एसपी ने अपने अधीनस्थों को यह भी हिदायत दी कि वे डकैतों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में बिना किसी भेदभाव के निष्पक्ष कार्रवाई करें।  सोमवार को पुलिस कार्यालय में हुई क्राइम बैठक में पुलिस अधीक्षक बीरबहादुर सिंह ने अपने अधीनस्थों से सबसे पहले लंबित पड़ी विवेचानाओं, वांछित व फरार अपराधियों के बारे में जानकारी की। जिसमें कर्वी कोतवाली, राजापुर थाना, मानिकपुर थाने में विवेचनाएं लंबित होने पर उन्होंने कहा कि समय सीमा के भीतर सभी मामले निस्तारित करें।

उन्होंने कहा कि  थाने में आने वाले फरियादी की समस्या का निराकरण प्रभारी स्वयं करें। इस दौरान एसपी श्री सिंह ने कहा कि दबंग किसी दलित शोषित को जबरन प्रताड़ित या हानि पहुंचाते हैं तो उनके खिलाफ बिना किसी संकोच के कड़ी कार्रवाई की जाए। वहीं दस्यु समस्या पर बोले कि बीते दो सप्ताह से चल रहे सघन सर्चिंग अभियान से दस्युदलों के हौसले पस्त हुए हैं। अब आवश्यकता है कि अपने-अपने क्षेत्र में बदमाशों की गतिविधियों में पूर्णरूप से लगाम लगाने के लिए आम जनता के बीच अपनी पैठ बनाते हुए लोगों का विश्वास जीतें। ताकि दशकों से दस्यु समस्या झेल रहे प्रभावित क्षेत्र के लोग गिनती के बदमाशों के खिलाफ पुलिस की मुहीम में स्वयं शामिल हो उनको ठिकाने लगाने में मदद कर सकें।

उन्होंने कहा कि पुलिस मुहीम के चलते आज पाठा क्षेत्र में तो शान्ति बनी ही है साथ ही बदमाश कड़ी नाकेबन्दी और गाड़ाबन्दी के चलते लगातार ठिकाने बदल रहे हैं। जिला पुलिस की ही मुहीम का परिणाम है कि बीते दिनों एमपी पुलिस से दस्यु रागिया की जबरजस्त मुठभेड़ हुई थी और बदमाश अपनी दैनिक उपयोग की वस्तुएं तो छोड़कर भागे ही थे साथ में कारतूस व मोबाइल भी बरामद किए थे। इस दौरान उन्होंने दस्यु प्रभावित थाना क्षेत्राों के सीओ व एसओ से उनके द्वारा चलाई जा रही दस्यु उन्मूलन अभियान व तरीके पर भी चर्चा की। उन्होंने अपने अधीनस्थों को ताकीद करते हुए कहा कि सर्चिंग व गाड़ाबन्दी अभियान के तहत किसी भी निर्दोष ग्रामीण को प्रताड़ित न किया जाए। यदि किसी भी अधिकारी के खिलाफ ऐसी शिकायत आती है तो वे सख्त कार्रवाई करेंगे। साथ ही कहा कि इस अभियान के दौरान चिन्हित किए गए डकैतों के पैरोकारों को बिल्कुल भी न बख्शा जाए चाहे वह कितनी ही पहुंच वाला क्यों न हो।

बैठक में अपर एसपी विपिन मिश्रा, सीओ सिटी उदय शंकर, सीओ राजापुर अखिलेश्वर पाण्डेय, सीओ मऊ अर्जुन सिंह, कर्वी कोतवाली प्रभारी सीडी गौड़, एसओजी प्रभारी लक्ष्मण मिश्रा समेत राजापुर, पहाड़ी, सीतापुर चौकी, रैपुरा, बहिलपुरवा, मऊ, मानिकपुर, बरगढ़, मारकुण्डी, जीआरपी कर्वी के एसओ भी मौजूद रहे।