एक ही जगह मिलेगा प्रदेश भर का हस्तशिल्प

0
267

चित्रकूट- कानपुर का लेदर वर्क, फिरोजाबाद के कांच का सामान, लखनऊ का चिकन, आगरा का जनरेटिंग सिस्टम और बरेली का केन का फर्नीचर। यह सब सामान इस धर्मनगरी में आ चुका है। सोमवार शाम चार बजे के बाद औद्योगिक एवं हस्तशिल्प इकाइयों के उत्पादों की प्रदर्शनी की शुरुआत शाम हो जायेगी। उप्र व्यापार प्रोत्साहन प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के सी विश्वनाथन व सह निदेशक उद्योग निदेशालय सुनील भटनागर ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि उनका उद्देश्य प्रदेश भर के अलग-अलग स्थानों पर बनाये जाने वाले उत्पादों को एक ही स्थान पर रखकर लोगों को जानकारी देने के साथ ही विक्रय कराने का है। यहां पर लगभग सौ स्टाल लगाये जायेंगे।

उन्होंने बताया कि विभाग इससे पूर्व 119 मेलों का आयोजन कर चुका है। इसके पहले दो वर्ष पूर्व इसी स्थान पर ही प्रदर्शनी लगायी जा चुकी है जो काफी सफल रही। इस बार मेले में कानपुर का लेदर, लखनऊ का चिकन, रामपुर का पैचवर्क, मऊ, आजमगढ़ बनारस की साड़ियां, फिरोजाबाद का कांच का सामान, सहारनपुर का लकड़ी का फर्नीचर, बरेली का केन का फर्नीचर, प्रतापगढ़ का अचार, मुरब्बा, खादी वस्त्र व आयुर्वेदिक दवाओं के साथ ही मुरादाबाद का पीतल का सामान विक्रय के लिए उद्यमियों को आमंत्रित किया गया है। उन्होंने बताया कि लोगों के मनोरंजन के लिए 20 जुलाई को शाम सात बजे ब्रज के कलाकार होली लीला, 22 को राजस्थान के कलाकार राजस्थानी गीत, 24 को पूर्वाचल के कलाकार भोजपुरी गीत व 26 को बुंदेलखंड के कलाकार बुंदेलखंडी गीत प्रस्तुत करेंगे।