उर्द-मूंग की बुवाई बीज शोधन के बाद करें

0
204

हमीरपुर – कृषि सूचना तन्त्र के सुदृढ़ीकरण योजना के तहत विकासखण्ड मुस्करा के निवादा गांव में कृषक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी कार्यकृम के अवसर पर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तकनीकी सहायक रमेशचन्द्र शुक्ला ने मिशन के अन्तर्गत मिलने वाले अनुदान के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

कृषक गोष्ठी  के अवसर पर बोलते हुये शुक्ला ने किसानों को कृषि यन्त्रों में मिलने वाली छूट का लाभ उठाने का आह्वान भी किया। किसानों को मिट्टी की जांच अवश्य कराने की सलाह दी। शुक्ला ने कहा कि इससे मिट्टी की दशा पता चल जाती है और फिर उसी के अनुसार विभिन्न खादों तथा पोषक तत्वों का प्रयोग करना चाहिए। अरहर की फसल को कीट एवं रोगों से रोकने के लिए दवाइयों का प्रयोग करने की सलाह दी। किसानों को जायद मेंउर्द, मूंग की बुवाई बीज शोधन के बाद ही बोने की सलाह दी। बीज को कैप्टान या थीरम से उपचारित करें।

इस मौके पर अन्य वक्ताओं ने किसानों को गर्मी की जुताई अवश्य करने व नाडेप वर्मी के बारे में विस्तार से बताया। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तकनीकी सहायक विनोद कुमार सचान ने योजना के अन्तर्गत मिल रहे अनुदान, कृषि यन्त्र एवं फार्मर्स फील्ड स्कूल के विषय में जानकारी दी।