उपेक्षित पड़ी बुन्देली संस्—ति के दिन फिरने वाले है

0
216

rk_bundeli01rai-dance
वषोZ से उपेक्षित पड़ी बुन्देली संस्—ति के दिन फिरने वाले है। शुरुआत दूरदर्शन के लखनऊ मुख्यालय द्वारा की जा रही है। 15 मार्च को दूरदर्शन की टीम होटल ललित पैलेस में आयोजित होने वाले लोक संगीत, लोक नृत्य के कार्यक्रम को कैमरे में कैद कर ले जायेगी। 18 व 25 मार्च को लखनऊ दूरदर्शन पर प्रसारित किया जायेगा।

लोक संस्—ति के बारे में जानकारी रखने वाले लोग लम्बे समय से उपेक्षित पड़ी बुन्देली कला को लेकर परेशान बने हुए है। देश के मध्य भाग में होने के कारण यहां पर विविध कलाओं का विकास हुआ, लेकिन इस इलेक्ट्र‚निक युग में बुन्देलखण्ड की संस्—ति को अपेक्षित तवज्जाो नहीं मिल पा रही थी। जिस तरह लखनऊ केन्द्र ने जिले की माटी में आकर सोन्धी पहचान को गीतों के माध्यम से उजागर करने वाले कलाकारों की सुध लेने का कार्य किया है, वह काफी महत्वपूर्ण हो सकता है। यह बात और है कि इस जिले के सभी कलाकारों को एक-दो घण्टे के कार्यक्रम में नहीं बांधा जा सकता। इधर इतना मसाला है कि पूरे महीने भर भी यदि प्रसारण हो, तो कार्यक्रमों की कमी नहीं पड़ेगी। फिलहाल इस आयोजन की जानकारी मिलने से जिले के कलाकार उत्साहित है।
28-05-09-st-191
1-photo-5
वह मानकर चल रहे है कि आज नहीं, तो कल टीवी पर कार्यक्रम प्रस्तुत नज़र आयेंगे। आयोजक लोक सागर सोसायटी के निदेशक शैलेन्द्र सागर ने बताया कि कार्यक्रम निर्धारित है। इनकी प्रस्तुतियों के लिए कलाकारों को भी खबर दे दी गई है। सहायक केन्द्र निदेशक नीलम चतुर्वेदी ने बताया कि ललित रग नाम से आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम की समयावधि 15 मार्च सायं 6.30 बजे से 9 बजे रहेगी। प्रस्तुतियों की शूटिग तीन केन्द्रों के द्वारा की जायेगी। सम्पादित अंशों का प्रसारण 18 मार्च को सायं 5.05 बजे से 6 बजे के मध्य किया जायेगा। कार्यक्रमों में संस्—ति वन्दना, सैरा, फाग, होली, काव्य पाठ, देशगान, लोकनृत्य, बधाई नृत्य, िढमरयाई, बुन्देली लोकगीत एकल व युगल प्रस्तुत होंगे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com