उत्तराखंड में प्रेस की आजादी का आपातकाल,

0
563

उत्तराखंड सरकार अब किस तरह मीडिया का गलाघोंट रही है। मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश के केबल नेटवर्क से समाचार प्लस न्यूज चैनल का प्रसारण गायब हो गया है। इसके पीछे समाचार प्लस के एडिटर-इन-चीफ उमेश कुमार द्वारा मुख्यमंत्री हरीश रावत का स्टिंग करने की वजह से जिस तरह अब हरीश रावत को सीबीआई के सवालों का जवाब देना पड़ रहा है, उसी का गुस्सा शायद अब प्रदेश के मुखिया समाचार प्लस चैनल पर उतार रहे हैं।

इस बारे में उमेश कुमार का कहना है कि हरीश सरकार आज एक बार फिर आपातकाल की याद दिला रहे हैं, जहां सरकार मीडिया पर अंकुश लगाना चाह रही है। उन्होंने कहा कि हमें मिली जानकारी के मुताबिक कई जगह डीएम ने केबल नेटवर्क ऑपरेटरों को समाचार प्लस चैनल ने दिखाने का आदेश दिया है।

उमेश कुमार ने बताया कि हम आपातकाल से लड़ेंगे और प्रदेश सरकार के इस अलोकत्रांतिक कदम की पुरजोर निंदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार सिर्फ केबल नेटवर्क पर हमारा चैनल बंद कर सकती है वो भी सिर्फ उत्तराखंड में, लेकिन प्रदेश की जनता आज मोबाइल और डीटीएच प्लेटफॉर्म के जरिए हमारा प्रसारण देख रही है। उत्तर प्रदेश की जनता भी हमारा चैनल देख रही है। सोशल मीडिया पर लोग हरीश रावत की इस कृत्य की भर्त्सना कर रहे हैं।
इस प्रकार से प्रशारण बंद करना प्रेस की आजादी पर बदनुमा दाग मुख्यमंत्री ने लगाया है। इसका विरोध बुंदेलखंड में भी देखने को मिला, श्रमजीवी प्रेस क्लब के महासचिव, और भारतीय श्रमजीवी पत्रकार संघ के राष्टीय पार्षद विकास कुमार शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस कृत्य की कड़ी निंदा की गई, और विरोध की राणनिति त्यार की गई।

NO COMMENTS