उगाही के विरोध पर कैदी को जिंदा जलाया

0
198

जालौन-जिला कारागार में पत्‍‌नी की हत्या के आरोप में बंद विचाराधीन कैदी संदिग्ध परिस्थितियों में बुरी तरह जल गया। बंदी का आरोप है कि जेल प्रशासन के इशारे पर बंदियों से उगाही करने वाले तीन दबंग कैदियों ने उसके ऊपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी। हालत गंभीर होने पर कैदी को झांसी रिफर किया गया है। जेलर ने तीनों आरोपित कैदियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया है। घटना की मजिस्ट्रेटी जांच भी होगी।

कैलिया थाना क्षेत्र के ग्राम बेड़ा निवासी सोबरन कुशवाहा (32) पुत्र रामप्यारे कुशवाहा पर अपनी पत्‍‌नी रीता की हत्या करने का आरोप है। करीब छह माह पूर्व पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा था। जेल में उसे करीब दो दर्जन कैदियों के साथ बैरक नंबर चौदह में रखा गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार कैदी छय रोग से ग्रसित है। इसके बावजूद सुविधा शुल्क न दे पाने से जेल में अस्पताल की बैरक में उससे झाड़ू पोंछा कराया जाता था। गुरुवार को स्वास्थ्य खराब होने से वह काम करने की स्थिति में नहीं था।

सोबरन का आरोप है कि कुछ कैदियों को जेल प्रशासन ने बंदियों को उत्पीड़ित कर उगाही की जिम्मेदारी सौंप रखी है। शुक्रवार को जन्माष्टमी के मनाने की तैयारियां सुबह से ही चल रही थी, लेकिन बीमार होने से सोबरन जल्दी नहीं उठ सका। उसकी इतनी सी खता पर सजायाफ्ता बंदी कुलदीप, शैलेंद्र तथा राकेश ने बैरक के भीतर ही उसके साथ जमकर मारपीट की और मिट्टी का तेल छिड़क कर उसके शरीर में आग लगा दी। मौके पर पहुंचे बंदी रक्षकों ने सोबरन के शरीर में लगी आग बुझायी। जेलर नत्थू सिंह सेंगर और जेल के डाक्टर उसे जिला अस्पताल लाये। नब्बे फीसदी शरीर झुलसा होने से उसकी हालत गंभीर देख डाक्टरों ने उसे झांसी रिफर कर दिया। पुलिस अधीक्षक पीके मिश्रा, अपर पुलिस अधीक्षक राकेश शंकर एवं सीओ सिटी केशव चंद्र गोस्वामी खुद मामले की जांच के लिए जेल पहुंचे। जिंदगी और मौत के बीच झूलते विचाराधीन बंदी शोभा राम ने अपने बयान में जेल के भीतर अवैध उगाही का आरोप भी मढ़ा है। उसने कहा कि सुविधा शुल्क नहीं दे पाने की वजह से ही उसका ज्यादा उत्पीड़न किया जाता था। पुलिस अधीक्षक पीके मिश्रा ने कहा कि प्राथमिक छानबीन से साफ हुआ है कि उक्त बंदी को जलाया गया है लिहाजा मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए छानबीन की जा रही है। उधर एडीएम अरुण कुमार ने कहा है कि घटना की मजिस्ट्रेटी जांच करायी जा रही है।

NO COMMENTS