आदिवासी की झोपड़ी मक्का की रोटियां बनाई

0
211

गुना- केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी की राह पर आगे बढ़ गए हैं। उन्होंने आदिवासी की झोपड़ी में दो घंटे बिताए एवं आदिवासी परिवार के साथ मिलकर मक्का की रोटियां बनाई और बड़े चाव से खाया

शुक्रवार रात 8 बजे श्री सिंधिया जब झितरा पटेल्या के परिवार में पहुंचे तो उसका परिवार हक्का-बक्का रह गया। ज्योतिरादित्य को देखने आए आदिवासियों से सिंधिया ने बच्चों के स्कूल जाने और राशन मिलने के बारे में पूछा। इसी दौरान झितरा पटेल्या ने उनसे भोजन का आग्रह किया तो वे उसकी झोपड़ी में जाकर बैठ गए। उन्होंने झितरा की बेटी लीला, बहू पार्वती और उसकी बेटी राधिका की खैरियत भी पूछी।

झोपड़ी में खाने की तैयारी होते देख सिंधिया खुद को रोक नहीं सके और उन्होंने मक्का का आटा गूंथकर अपने हाथ से रोटी भी बनाई। अपने हाथ से बनी रोटी खाने के बाद सिंधिया करीब एक घंटा रुककर रवाना हुए। उन्होंने रात्रि विश्राम गुना में किया।

आदिवासी की झोपड़ी में रुकने के बारे में पूछने पर श्री सिंधिया ने कहा कि पूर्वजों की भांति मेरी रुचि राजनीति में न होकर निजी रिश्ते बनाने में है। निश्चित तौर पर लोगों से और अधिक जुड़ने की यह प्रेरणा कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी से ही मिल रही है। वे हमारे नेता हैं और कांग्रेस को नई दिशा दे रहे हैं।