आत्महत्या की बढ़ती घटनाओं पर गहरी चिंता व्यक्त

0
277

भारतीय जनता पार्टी ने राज्य मंें किसानों द्वारा आत्महत्या की बढ़ती घटनाओं पर गहरी चिंता व्यक्त की है। प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने बुंदेलखंड में किसानों द्वारा आत्महत्या किए जाने पर कहा कि बांदा जनपद के 45 वर्षीय किसान संतोष, चित्रकूट के 25 वर्षीय किसान बृजमोहन को आर्थिक तंगी और कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या करने पर मजबूर होना पड़ा।

प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार किसान आत्महत्याओं के प्रति संवेदनहीन है। पार्टी द्वारा अपने घोषणा-पत्र में पचास हजार रू0 तक के कृषि ़ऋण माफ किए जाने का वादा किया था परन्तु सरकार बनने के बाद भी इसके क्रियान्वयन की दिशा में सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। बुंदेलखंड के किसान पानी की कमी और सिंचाई सुविधाओं के पर्याप्त न होने के कारण अत्यंत त्र्रस्त हैं। प्रदेश की आबादी में 70 प्रतिशत किसानों की समस्याओं के प्रति उसकी प्रतिबद्धता अभी तक नजर नहीं आ है।

श्री पाठक ने कहा कि केन्द्र सरकार से लेकर प्रदेश सरकार तक गरीबी के कारण किसानों द्वारा निरन्तर की जा रही आत्महत्या को लेकर चिंता व्यक्त की जाती है, वादे किए जाते हैं, परन्तु समस्या का निदान ने होने के कारण किसानों द्वारा आत्महत्या की घटनाओं में वृद्धि हुई है। जो एक सभ्य समाज के लिए कलंक है। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में किसानों द्वारा आत्महत्या किए जाने के मामले सर्वाधिक सामने आए हैं लेकिन केन्द्र व राज्य सरकारों द्वारा इस दिशा में कोई ठोस कदम अभी तक नहीं उठाए गए हैं।

भाजपा प्रवक्ता ने प्रदेश सरकार से मांग की कि प्राथमिकता के आधार पर प्रदेश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ किसानों की समस्याओं के प्रति संवेदनशीलता बरते। बजट सत्र में ही किसानों की कर्ज माफी के बजट प्राविधान की घोषणा करे। किसान आत्महत्या जैसे मामलों को रोकने के कदम उठाते  हुए अपने वादे के अनुरूप किसनों के ऋण माफ करने की दिशा में तत्काल पहल करे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com