आतंकवाद के प्रति जागरूक होना जरूरी

0
258

ललितपुर- कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी पवन कुमार की अध्यक्षता में आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया गया। इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि आतंकवाद राष्ट्र के विकास में बाधक है। सभी को आतंकवाद का डटकर मुकाबला करना चाहिए। इस दौरान आतंकवाद विरोधी शपथ भी दिलायी गयी। इसके अलावा अन्य कार्यालयों में भी आतंकवाद विरोध दिवस कार्यक्रम सम्पन्न हुए।

कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित संगोष्ठी में जिलाधिकारी पवन कुमार ने कहा कि आतंकवाद के कारण राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा उत्पन्न हो गया है। आतंकवाद ने लोगों के मन में भय एवं अनिश्चितता की भावना पैदा कर दी है। जिस ऊर्जा का सदुपयोग राष्ट्र के विकास में होना चाहिए उस ऊर्जा को आतंकवाद के खतरे से निपटने के उपयोग में लाया जा रहा है। जगह-जगह आतंकवाद की समस्या सिर उठाने लगती है। लोगों को आतंकवाद के बढ़ रहे खतरे के प्रति जागरूक रहना पड़ेगा। आतंक से जुड़ी छोटी सी छोटी जानकारी का आदान-प्रदान करने की जरूरत है ताकि अंजाम से पूर्व मानवता के विरोधियों के मंसूबों को पस्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि हिसा के खतरे ने जनता में असुरक्षा की भावना पैदा कर दी है। समाज एवं पूरे देश पर इसके खतरनाक प्रभाव पड़े है। सभी वर्गो में आतंकवाद को लेकर जागरूकता पैदा करना नितात आवश्यक है। विघटनकारी शक्तियों से मुकाबला करने के लिए सभी को आगे आना चाहिए। खासतौर से युवा पीढ़ी इस महत्वपूर्ण कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद का न कोई जाति होती है और न कोई धर्म। आतंकवादियों का मंसूबा केवल दहशत फैलाना होता है।

विकास भवन में आतंकवाद विरोधी दिवस की शपथ दिलायी गयी। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी बुद्धिराम ने आतंकवाद के खतरों से अवगत कराया। उन्होंने स्वयंसेवी संगठनों से खासतौर से कहा कि वह समर्पण भाव से लोगों के जीवन पर मड़रा रहे खतरों से सुरक्षित रहने की जानकारिया दें। समाज में लोगों के बीच सद्भाव बनाये रखने के लिए कार्यक्रम आयोजित करने की जरूरत है। सद्भाव की दिशा में कार्य करने वालों को भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।