आखिर कियू नजरअंदाज कर रहे मुख्यमंत्री केंद्रीयमंत्री उमा भारती को

0
148

बुन्देलखण्ड में चाहे झांसी हो या फिर ललितपुर और जालौन समेत कई जनपद सभी स्थानों पर सूखे के कारण हालत बड़े ही खराब है। इसके बाद भी प्रदेश में बैठी अखिलेश सरकार को किसानों की चिंता नही है।

किसानों को लेकर केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने उत्तर प्रदेश के मुखिया अखिलेश पर हमला बोलते हुये कहा कि बुन्देलखण्ड के किसानों की अखिलेश सरकार कोई चिंता नही है। किसानों को मदद पहुंचाने के लिये मुख्यमंत्री को पिछले एक सप्ताह से बात करने के लिये दिल्ली बुलाया जा रहा है। लेकिन वह नहीं आ रहें हैं। इससे अंदाजा लगाया सकता है कि उन्हे किसानों की कितनी चिंता है। कई बार फोन और ई-मेल से उनसे सम्पर्क किया गया लेकिन उन्होंने अभी तक गम्भीरता से नही लिया। बुन्देलखण्ड और उत्तर प्रदेश के किसानों के साथ अखिलेश सरकार केवल छलावा कर रही है। उन्हे अपनी राजनीति का मोहरा बनाया जा रहा है। यदि उन्हें किसानों की जरा भी चिंता है तो उन्हे दिल्ली आकर हमसे मिलना चाहिए। लेकिन ऐसा नही है। जरूरत पड़ने पर तो हमसे मुलाकात या फिर बात की जाती है लेकिन जब किसानों की बात आती है तो दूर हो जाते है।

बुन्देलखण्ड के किसानों का पलायन रोकने के लिये केन्द्र सरकार हर सम्भव प्रयास कर रही है। मनरेगा में 100 दिन का मिलने वाला रोजगार अब 150 दिन मिलेगा। सूखे को रोका तो नही जा सकता है लेकिन उससे निपटने के लिये तैयारी की जा रही है जिसके लिए केन-बेतवा और पंचनदा में पहले से ही इतना पानी एकत्रित कर लिया जायेगा कि सूखे से निपटा जा सके है।

NO COMMENTS