अम्बेडकर गांवों होंगे रोशन

0
184

झांसी। अम्बेडकर गांवों के साथ ही उससे जुड़े मजरे भी अब दुधिया रोशनी से
नहाएंगे। शर्त यह है कि मजरे में अनुसूचित जाति के लोग निवास करते हो, और
गांवों में सामुदायिक केन्द्र बनाए जाएंगे, जहां पर ग्रामीण शादी-ब्याह
के आयोजन के साथ ही बैठक आदि कार्यक्रम कर सकेंगे।

vlcsnap-2009-12-11-03h51m44s29

आंबेडकर ग्राम विकास विभाग के मंत्री रतनलाल अहिरवार का कहना है  की अम्बेडकर ग्रामों में विकास कार्य तेजी से चल रहे है।
शासन ने अब इनसे जुड़े मजरों में भी विकास कार्य शुरू करवा दिए है।
प्रत्येक गांव में 13.5 लाख की लागत से सामुदायिक केन्द्र बनाए जाने के
साथ मजरों में स्ट्रीट लाइट लगाए जाने की व्यवस्था की गई है। इस सम्बन्ध
में अम्बेडकर ग्राम सभा विकास उन्होंने  बताया कि अम्बेडकर गांवों के
मजरों में स्ट्रीट लाइटे वहां निवास कर रहे अनुसूचित जाति के व्यक्तियों
के हिसाब लगाई जा रही है। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश के गांवों व
मजरों में 10 हजार स्ट्रीट लाइटे लगायी जाएगी। अनुसूचित जाति के 50 लोगों
के निवास करने पर एक तथा इससे ज्यादा पर दो स्ट्रीट लाइटे लगाए जाने की
व्यवस्था की गई है।


Vikas Sharma
bundelkhandlive.com
E-mail :editor@bundelkhandlive.com
Ph-09415060119