अधिकारी द्वारा अभद्रता करने पर भड़क उठे अवर अभियन्ता

0
253

अपने अधिकारी द्वारा कहे जाने वाले अमर्यादित शब्दों व अभद्रतापूर्ण व्यवहार से परेशान हुए अवर अभियन्ताओं को आखिरकार गुस्सा आ ही गया। गुस्साए इंजीनियरों ने उत्तर प्रदेश डिप्लोम इंजीनियर्स महासंघ के बैनर तले बैठक कर इसकी निन्दा की और अभद्रता करने वाले सहायक अभियन्ता के खिलाफ मोर्चाबन्दी  कर ली। अवर अभियन्ता इतने गुस्से में थे कि वे आर पार की लड़ाई लड़ने का मन बना सीधे सहायक अभियन्ता के दफ्तर पहुंच गए। जहां अधिकारियों व संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने मामले को सम्भालते हुए दोनो पक्षों को आमने सामने बिठा आगे से सहायक अभियन्ता द्वारा ऐसे आचारण न करने का वायदा करवाया तब कहीं जाकर मामला शान्त हुआ। वहीं संघ ने चेतावनी दी कि सिंचाई विभाग के उक्त सहायक अभियन्ता द्वारा अधीनस्थों के साथ  फिर दुबारा ऐसी हरकत की गई तो वे लोग शान्त नहीं बैठेगें।

सिंचाई खण्ड प्रथम के घनश्याम, अजय कुमार, राम कैलाश, सियोध आदि अवर अभियन्ताओं ने अपने साथियों को जानकारी दी थी कि उनके साथ सहायक अभियन्ता सीपी सिंह अभद्रता करते हुए गाली गलौज करते हैं। इसके अलावा नियमों के विरुद्ध काम करने का दबाव भी बनाते हैं। इसके अलावा उनका आदेश न मानने पर चरित्र पंजिका खराब करने की धमकी देने का भी आरोप लगाया गया।  अपने साथियों के साथ अभद्रता की जानकारी मिलने पर विभाग के जेई भड़क उठे और बुधवार को उत्तर प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के बैनर तले आपात बैठक   बुला कर इसकी निन्दा की गई। इसके बाद बैठक में उपस्थित अवर अभियन्ताओं व संघ के सदस्य मामले पर बात करने के लिए सहायक अभियन्ता सिंह के दफ्तर में पहुंचे। जहां उन लोगों वाद विवाद होने लगा। मामला इतना बढ़ गया कि नौबत मारपीट तक पहुंच गईं। इस बीच वहीं मौजूद अधिशासी अभियन्ता सिंचाई खण्ड प्रथम के एस लाल, व इं. ए के शुक्ला सहित संघ के जिला सचिव इं. राजेश मालवीय, संघर्ष समिति के चेयर मैन इ. पीके कटियार, उत्तर प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के मण्डल अध्यक्ष बी एल सिंह, जिलाध्यक्ष अमरनाथ सिंह आदि ने दोनो पक्षों को आमने सामने बिठा आगे से सहायक अभियन्ता द्वारा ऐसा व्यवहार न किए जाने का वायदा करवाया। वहीं मौके पर मौजूद महासंघ के सदस्यों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सहायक अभियन्ता सी.पी. सिंह  अपने अधीनस्थों के साथ दुबारा दुव्र्यवहार करेंगे तो वे लोग शान्त नहीं बैठेगे और मामले को ऊपर तक ले जाकर उनके खिलाफ कार्रवाई करवाएंगे।