अंचल में मानसून की दस्तक

0
298

ग्वालियर-चम्बल संभाग में मानसून की राहत भरी दस्तक आ पहुंची है। रविवार को जहां शहर में धूल भरी तेज हवा के साथ रह-रह कर हल्की बारिश हुई, बादलों का गर्जना, बिजली का चमकना जारी रहा। वहीं मुरैना, शिवपुरी, श्योपुर और दतिया जिले में भी पानी गिरा। मौसम केंद्र के अनुसार अब ग्वालियर में कभी भी झमाझम बारिश हो सकती है।

ग्वालियर शहर में दोपहर में खासी गर्मी रही पर दोपहर बाद आसमान में छाये बादलों ने सूरज के ताप को कम कर दिया। अचानक मौसम बदला और तेज धूल भरी हवाओं के बीच बूंदाबादी हुई। इसकेविपरीत शहर की सीमा से लगे रायरू में खासी बारिश हुई। आसपास के ग्रामीण क्षेत्र में भी इसी तरह का मौसम रहा। इसके असर से शहरवासियों ने थोड़ी सी राहत महसूस की है। जिले की डबरा तहसील के पिछोर, आंतरी, बिलौआ, भितरवार और चीनौर में कहीं हल्की, कहीं तेज बूंदाबादी हुई।

मिली खबरों के अनुसार शिवपुरी जिले में शनिवार को देर रात शुरू हुई बारिश लगभग आधा घंटा तक जारी रही। इससे सुबह मौसम बदला-बदला सा लगा। उधर भिंड जिला राहत की इस बरसात से फिलहाल वंचित है।

वहां सिर्फ ठण्डी हवा चलने की ही खबर है। दतिया जिले में शनिवार की रात हल्की बूंदाबांदी से रविवार का मौसम खुशनुमा हो गया। सायंकाल छह बजे लगभग पौन घंटे तक तेज बारिश हुई और शेष समय बादल छाए रहे। श्योपुर जिले में कहीं रिमझिम तो कही झमाझम बारिश हुई। श्योपुर शहर में 15 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई जबकि आवदा, कराहल, श्यामपुर, बडौदा, विजयपुर तथा रघुनाथपुर क्षेत्र में 34 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। रघुनाथपुर क्षेत्र में करीब डेढ़ घंटे झमाझम बारिश होने से सूखे पड़े पोखर तथा ताल तलैयों में पानी भर गया। शिवपुरी जिले में शनिवार की देर रात हुई बारिश का असर रविवार के मौसम पर साफ नजर आया। दिनभर बादल छाए रहे और कुछ ग्रामीण इलाकों में हल्की बारिश भी हुई।

मुरैना जिले में दिनभर बादलों की लुकाछिपी चलती रही। दोपहर चार बजे हुई हल्की बरसात से लोगों को चेहरे खिल गए। इससे पहले शनिवार की देर रात भी कुछ देर बूंदाबांदी हुई थी। भिंड जिले में भी कुछ समय के लिए बादलों का डेरा रहा। जिले में कहीं से बारिश की खबर नहीं है लेकिन ठंडी हवाओं से लोग राहत महसूस कर रहे हैं। ग्वालियर जिले में रविवार की शाम लगभग पांच बजे ग्रामीण इलाकों में तेज हवाओं के साथ बरसात हुई। शहर में भी काली घटाएं छाई रहीं।